bharatiya janata party (BJP) logo

President's Press Releases

Accessibility

देश के बुद्धिजीवी यदि तटस्थता से यह चिंतन करें कि भारत को विश्वगुरु के स्थान पर कौन पुनः प्रतिष्ठित कर सकते हैं तो एक ही आवाज आयेगी - श्री नरेन्द्र मोदी ********

आप जब कोई भी वस्तु लेने बाजार जाते हैं तो काफी जांच-पड़ताल के बाद ही लेते हैं, इसी तरह किसी पार्टी के हाथों इतने विशाल देश की बागडोर सौंपने से पहले उस पार्टी के आंतरिक लोकतंत्र, सिद्धांत और उसकी कार्यपद्धति की समीक्षा जरूर करें ********

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने देश के विकास व गरीब-कल्याण के लिए लगभग अंत्योदय के सिद्धांत पर 106 योजनाओं की शुरुआत की है और इनमें से एक भी योजना ऐसी नहीं है जो किसी एक वर्ग के लिए बनी हो ********

जब श्री नरेन्द्र मोदी के रूप में गरीब का बेटा देश का प्रधानमंत्री बनता है तब इस तरह की गरीब-कल्याण की सोच विकसित होती है और प्रधानमंत्री जी ने देश की सोच के स्केल को ऊपर उठाने का काम किया है ********

देश में जब-जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार आती है तो देश का विकास होता है, राज्यों में भी जब-जब कांग्रेस की सरकार आती है तो ग्रोथ रेट नीचे आता है और जब भाजपा सरकार आती है तो ग्रोथ रेट ऊपर आ जाता है। ********

हरियाणा की भाजपा सरकार सिर्फ पार्टी कार्यकर्ताओं की सरकार नहीं है बल्कि हरियाणा के एक-एक व्यक्ति की सरकार है। हमने श्री मनोहरलाल खट्टर के नेतृत्व में हरियाणा की राजनीति की संस्कृति को बदलने का काम किया है ********

13वें वित्त आयोग में कांग्रेस की यूपीए सरकार ने शेयर इन सेंटर टैक्स में हरियाणा के लिए 14,937 करोड़ रुपये आवंटित किये जबकि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने 42,847 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की, ग्रांट इन ऐड को भी दुगुना किया गया ********

स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फंड में वृद्धि करते हुए यूपीए सरकार के 711 करोड़ रुपये की तुलना में मोदी सरकार ने 5963 करोड़ रुपये आवंटित किये। लोकल बॉडीज ग्रांट में भी मोदी सरकार ने इसमें लगभग चार गुना वृद्धि करते हुए 5,963 करोड़ रुपये निर्धारित किये। ********

हरियाणा को केन्द्रीय योजनाओं के लिए 19 हजार करोड़ रुपये और डिस्कॉम के लिए 14,200 करोड़ रुपये अतिरिक्त दिए गए हैं, इस तरह सभी मदों में तीन साल में मोदी सरकार ने हरियाणा को 67,691 करोड़ रुपये की अतिरिक्त राशि उपलब्ध कराई गई है। ********

कई सरकारें 50 सालों में एक दो ऐतिहासिक काम करती है, मोदी सरकार ने तीन सालों में ऐसे 50 काम किये हैं जो ऐतिहासिक हैं। ********

भारतीय जनता पार्टी में नेता अपनी निष्ठा, देश के लिए काम करने की लगन, परिश्रम, मेधा और परफॉरमेंस के आधार पर बनते हैं, यही कारण है कि यहाँ एक बूथ कार्यकर्ता भी पार्टी का अध्यक्ष बन सकता है और एक गरीब का बेटा व पार्टी का एक छोटा सा कार्यकर्ता देश का प्रधानमंत्री ********

जिन पार्टियों में आंतरिक लोकतंत्र नहीं है, जो सिद्धांतों के आधार पर नहीं चलती हैं, वे पार्टियां देश का कभी भला नहीं कर सकती ********

संगठन का देश के कोने-कोने में विस्तार करना एवं पार्टी की विचारधारा को स्वीकृति दिलाना - यही दधीचि की तरह अपना सर्वस्व दान करके पार्टी एवं देश की सेवा करने वाले कर्मयोगी पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी ********

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज डॉ राधाकृष्णन ऑडिटोरियम, महर्षि दयानंद यूनिवर्सिटी, रोहतक (हरियाणा) में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित किया और भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा, सिद्धांतों और कार्यपद्धति पर विस्तार से चर्चा की। विदित हो कि श्री शाह देश के सभी राज्यों में कुल 110 दिनों के अपने विस्तृत प्रवास कार्यक्रम के तहत तीन दिवसीय दौरे पर अभी हरियाणा में हैं। इससे पहले बहादुरगढ़ से रोहतक जाने के क्रम में प्रदेश की जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं ने कई स्थानों पर राष्ट्रीय अध्यक्ष जी का भव्य स्वागत किया। रोहतक पहुँचने पर श्री शाह ने तिलयार कन्वेंशन सेंटर, तिलयार (रोहतक) में प्रदेश पदाधिकारियों, कोर ग्रुप के सदस्यों, मोर्चा अध्यक्षों, जिला अध्यक्षों, जिला महासचिवों और सभी बोर्ड एवं निगम के चेयरपर्सन के साथ बैठक की। तत्पश्चात् उन्होंने प्रकोष्ठ और मोर्चा अध्यक्षों के साथ विचार-विमर्श किया।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि संगठन का देश के कोने-कोने में विस्तार करना एवं पार्टी की विचारधारा को स्वीकृति दिलाना - यही अपना सर्वस्व दान करके पार्टी एवं देश की सेवा करने वाले कर्मयोगी पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि होगी। उन्होंने कहा कि पार्टी का एजेंडा जाने बगैर, पार्टी की कार्यपद्धति को जाने बगैर यदि हम किसी पार्टी को वोट देते हैं तो यह लोकतंत्र का भला नहीं कर सकता, यह लोकतंत्र को पीछे ले जाता है। उन्होंने कहा कि बहुपक्षीय लोकतांत्रिक संसदीय प्रणाली में किसी भी पार्टी का मूल्यांकन तीन विषयों के आधार पर हो सकता है - पार्टी का आंतरिक लोकतंत्र, पार्टी का सिद्धांत और सत्ता में आने पर सरकार की कार्यपद्धति। उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि देश की जनता इन आधारभूत मापदंडों पर राजनीतिक पार्टियों का मूल्यांकन करना चाहिए।

श्री शाह ने कहा कि आज देश में लगभग 1650 छोटी-बड़ी पार्टियों में से सिर्फ और सिर्फ भारतीय जनता पार्टी ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसके अंदर आतंरिक लोकतंत्र बचा हुआ है। उन्होंने कहा कि यदि पार्टी के अंदर ही लोकतंत्र नहीं है तो वह देश का भला नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि देश की अधिकतर पार्टियों में सबको पता है कि उसका अगला अध्यक्ष कौन होगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन होगा, यह सब लोगों को पता है लेकिन भारतीय जनता पार्टी का अगला लक्ष्य कौन होगा, यह किसी को मालूम नहीं है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी में अध्यक्ष वंश, जाति अथवा धर्म के आधार पर नहीं बल्कि योग्यता के आधार पर तय होते हैं। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में नेता अपनी निष्ठा, देश के लिए काम करने की लगन, परिश्रम, मेधा और परफॉरमेंस के आधार पर बनते हैं, यही कारण है कि यहाँ एक बूथ कार्यकर्ता भी पार्टी का अध्यक्ष बन सकता है और एक गरीब का बेटा व पार्टी का एक छोटा सा कार्यकर्ता देश का प्रधानमंत्री। उन्होंने कहा कि देश में कई सारी पार्टियाँ हैं जो परिवारवाद और जातिवाद के आधार पर ही चल रही हैं। उन्होंने कहा कि मैं देश की जनता का भी आह्वान करना चाहूँगा कि वे भी ऐसे दलों को चुनें जहां आंतरिक लोकतंत्र हो।

श्री शाह ने कहा कि पार्टी के मूल्यांकन का दूसरा महत्वपूर्ण मापदंड है - पार्टी का सिद्धांत। उन्होंने कहा कि जो पार्टियां सिद्धांतों के आधार पर नहीं चलती हैं, वे देश का भला नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि भारतीय जन संघ की स्थापना ही सिद्धांतों के आधार पर देश को एक वैकल्पिक नीति देने के लिए हुई थी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नेहरू जी के नेतृत्व में जब देश की विकास नीति, कृषि नीति, विदेश नीति, अर्थ नीति, रक्षा नीति और शिक्षा नीति का निर्माण हो रहा था तब डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी सहित कई राष्ट्र मनीषियों को लगा कि नेहरू सरकार देश के लिए जो नीतियाँ बना रही है, उन नीतियों के रास्ते पर यदि यह देश चलता रहा तो पीछे मुड़ने का भी रास्ता नहीं मिलेगा, तब उन लोगों ने एक ऐसी वैकल्पिक नीति को राष्ट्र के सामने रखने का साहस किया जिसमें देश की मिट्टी की सुगंध हो, उससे पाश्चात्य विचारों की बू न आती हो और जो नीतियाँ देश को विकास के पथ पर गतिशील करने में सहायक हो।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि 1950 से 2017 की जन संघ से भारतीय जनता पार्टी की यात्रा अंत्योदय, एकात्म मानववाद और सांस्कृतिक राष्ट्रवाद की यात्रा रही है और यही हमारे मूल सिद्धांत हैं। उन्होंने कहा कि अंत्योदय से हमारा मतलब है - विकास की दौड़ में पीछे छूट गए समाज के अंतिम व्यक्ति को विकास की दौड़ में खड़े सबसे पहले व्यक्ति के बराबार लाना और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार और हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर सरकार इसी उद्देश्य के साथ कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि हमने अंत्योदय के लक्ष्य को सामने रखते हुए एक सर्वस्पर्शी एवं सर्व-समावेशी विकास का मॉडल अपनाया है जो हर वर्ग को स्पर्श करता हो और सबको समाहित करता हो।

श्री शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के क्या सिद्धांत हैं, कोई नहीं बता सकता क्योंकि कांग्रेस पार्टी की स्थापना सिद्धांत के लिए हुई ही नहीं थी, आजादी प्राप्त करने के लिए हुई थी और इसमें सभी विचारधाराओं के लोग शामिल थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और भारतीय जन संघ की विचारधारा में एक बड़ा मूल अंतर यह था कि कांग्रेस देश का नवनिर्माण करना चाहती थी जबकि भारतीय जन संघ देश की प्राचीन सांस्कृतिक विरासत और गौरवशाली वैभव के आधार पर देश का पुनर्निर्माण करना चाहती थी। उन्होंने कहा कि जिस पार्टी का कोई सिद्धांत नहीं है, वह देश का विकास नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ही एकमात्र ऐसी पार्टी है जो सिद्धांतों के आधार पर चलती है और देश के खोये हुए गौरव को पुनर्स्थापित करना चाहती है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि यदि हम सरकारों का मूल्यांकन करें तो यह पता चलता है कि देश में जब-जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार आती है तो देश का विकास होता है। उन्होंने कहा कि यही स्थिति राज्य सरकारों की भी है, राज्यों में जब-जब कांग्रेस की सरकार आती है तो ग्रोथ रेट नीचे आता है और जब भाजपा सरकार आती है तो ग्रोथ रेट ऊपर आ जाता है। उन्होंने कहा कि देश के प्रबुद्ध-जनों को अब इन आंकड़ों के आधार पर पार्टी का मूल्यांकन करना चाहिए। उन्होंने सभा में उपस्थित महानुभावों से अपील करते हुए कहा कि आप जब कोई भी वस्तु लेने बाजार जाते हैं तो काफी जांच-पड़ताल के बाद ही लेते हैं, इसी तरह किसी पार्टी के हाथों इतने विशाल देश की बागडोर सौंपने से पहले उस पार्टी के आंतरिक लोकतंत्र, पार्टी के सिद्धांत और सरकार बनने पर पार्टी की कार्यपद्धति एवं विकास के आंकड़ों की समीक्षा जरूर करें। उन्होंने कहा कि यदि तटस्थता से आप यह चिंतन करेंगे कि भारत को विश्वगुरु के स्थान पर कौन पुनः प्रतिष्ठित कर सकते हैं तो एक ही आवाज आयेगी - श्री नरेन्द्र मोदी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमने देश को एक भ्रष्टाचार-मुक्त, पारदर्शी और निर्णायक सरकार देने का काम किया है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के तीन सालों में हमारे विरोधी भी हम पर भ्रष्टाचार का कोई आरोप नहीं लगा पाए। उन्होंने कहा कि कई सरकारें 50 सालों में एक दो ऐतिहासिक काम करती है, मोदी सरकार ने तीन सालों में ऐसे 50 काम किये हैं जो ऐतिहासिक हैं। उन्होंने कहा कि आंतरिक लोकतंत्र, पार्टी के सिद्धांत और सत्ता में आने पर सरकार की कार्यपद्धति - इन तीनों मापदंडों पर भारतीय जनता पार्टी जन-अपेक्षाओं पर खड़ी उतरी है।

श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत दुनिया की सबसे तेज गति से विकास करने वाली अर्थव्यवस्था बनी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार ने देश के विकास व गरीब-कल्याण के लिए लगभग 106 योजनाओं की शुरुआत की है और इनमें से एक भी योजना ऐसी नहीं है जो किसी एक वर्ग के लिए बनी हो। उन्होंने कहा कि 104 उपग्रहों को एक साथ अंतरिक्ष में प्रक्षेपित कर भारत अंतरिक्ष के अंदर दुनिया की एक प्रमुख ताकत के रूप में उभरा है, उज्ज्वला योजना के माध्यम से देश के लगभग पौने तीन करोड़ गरीब महिलाओं के घर में गैस सिलिंडर पहुंचाया गया है, साढ़े चार करोड़ से अधिक शौचालय का निर्माण कर महिलाओं को सम्मान के साथ जीने का अधिकार दिया गया है और लगभग 29 करोड़ लोगों के बैंक अकाउंट खोल कर उन्हें देश के अर्थतंत्र की मुख्यधारा में जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि मुद्रा बैंक योजना के माध्यम से देश के करोड़ों गरीब युवाओं को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराये गए हैं। उन्होंने कहा कि जीएसटी के रूप में ‘एक राष्ट्र, एक कर’ का स्वप्न साकार हुआ है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी, बेनामी संपत्ति क़ानून, शेल कंपनियों के खिलाफ अभियान और मॉरीशस-साइप्रस-सिंगापुर रूट को बंद करके काले-धन पर कठोर कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने योग को पूरी दुनिया में स्वीकृति दिलाकर देश की संस्कृति को प्रतिष्ठित करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा, स्वायल हेल्थ कार्ड, नीम कोटेड यूरिया, सिंचाई योजना, ई-मंडी जैसी योजनाओं के माध्यम से किसानों की आय को 2022 तक दुगुना करने के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में तेज गति से काम हो रहा है। उन्होंने कहा कि जब श्री नरेन्द्र मोदी के रूप में गरीब का बेटा देश का प्रधानमंत्री बनता है तब इस तरह की गरीब-कल्याण की सोच विकसित होती है और प्रधानमंत्री जी ने देश की सोच के स्केल को ऊपर उठाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश की राजनीति से जातिवाद, परिवारवाद और तुष्टीकरण को ख़त्म करने का काम किया है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि श्री मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व में हरियाणा की भाजपा सरकार बहुत अच्छा काम कर रही है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने हरियाणा के विकास के लिए कई कदम उठाये हैं। 13वें वित्त आयोग में कांग्रेस-नीत यूपीए सरकार ने हरियाणा के लिए पांच वर्षों में 14,937 करोड़ रुपये राशि आवंटित की जबकि 14वें वित्त आयोग में मोदी सरकार ने हरियाणा के लिए पांच वर्षों में 42,847 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की है जो 13वें वित्त आयोग के मुकाबले लगभग तीन गुनी अधिक है, इसी तरह 13वें वित्त आयोग में कांग्रेस-नीत यूपीए सरकार ने हरियाणा के लिए ग्रांट इन ऐड के तौर पर 3,670 करोड़ रुपये दिए थे जबकि मोदी सरकार ने लगभग दुगुनी वृद्धि करते हुए इसके लिए 7,238 करोड़ रुपये निर्धारित किये। उन्होंने कहा कि स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फंड में भी वृद्धि करते हुए यूपीए सरकार के 711 करोड़ रुपये की तुलना में मोदी सरकार ने 5963 करोड़ रुपये आवंटित किये। उन्होंने कहा कि लोकल बॉडीज ग्रांट के तौर पर यूपीए सरकार ने 13वें वित्त आयोग में 1,533 करोड़ रुपये दिए थे जबकि मोदी सरकार ने इसमें लगभग चार गुना वृद्धि करते हुए 5,963 करोड़ रुपये आवंटित किये। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार की तुलना में मोदी सरकार ने कुल मिलाकर इन योजनाओं में 34,409 करोड़ रुपये की वृद्धि की है जो लगभग ढाई गुना है। उन्होंने कहा कि हरियाणा को केन्द्रीय योजनाओं के लिए 19 हजार करोड़ रुपये और डिस्कॉम के लिए 14,200 करोड़ रुपये अतिरिक्त दिए गए हैं, इस तरह सभी मदों में तीन साल में मोदी सरकार ने हरियाणा को 67,691 करोड़ रुपये की अतिरिक्त राशि उपलब्ध कराई गई है।

श्री शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने श्री मनोहरलाल खट्टर के नेतृत्व में हरियाणा की राजनीति की संस्कृति को बदलने का काम किया है, ‘मेरा क्या' की जगह ‘हरियाणा का क्या' की संस्कृति विकसित हुई है जो अपने-आप में काफी बड़ी उपलब्धि है। उन्होंने जोर देते हुए कहा कि हरियाणा की भाजपा सरकार सिर्फ पार्टी कार्यकर्ताओं की सरकार नहीं है बल्कि हरियाणा के एक-एक व्यक्ति की सरकार है। उन्होंने कहा कि एक लंबे अरसे के बाद हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में एक ऐसी सरकार का गठन हुआ है जो प्रदेश के जन-जन के विकास के लिए काम करती है। उन्होंने सम्मेलन में उपस्थित प्रबुद्ध वर्ग को संबोधित करते हुए कहा कि मैं आप सब को विश्वास दिलाता हूँ कि श्री मनोहरलाल खट्टर के नेतृत्व में हम हरियाणा को भी विकास के पथ पर तेज गति से अग्रसर करेंगे और इसे देश का एक विकसित प्रदेश बनायेंगे।

Tag: 7

Share your views. Post your comments below.

Sign Out


Security code
Refresh

Subscribe BJP Newsletter